तलाश…

कब मिला था तुमसे कुछ याद नहीं है

लगता है जैसे सदियाँ गुज़र गयीं

तू तन्हा न मिला मुझको

वहशत में तमाम उम्र गुज़र गयी

मुसलसल तुझको ही ढूँढा किये हम

भटकते-भटकते तेरी तलाश में ज़िन्दगी गुज़र गयी

एक तुझे चाहा और तू ही न मिला

तेरी याद में तमाम उम्र गुज़र गयी

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s