पारिजात…

हरसिंगार के फूल ऐसे फूल होते हैं जो ज़मीन पर गिरने के बाद भी भगवान को चढ़ाये जाते हैं । हरसिंगार का नाम पारिजात भी है । पारिजात की एक सुन्दर सी कहानी भी है ।

कहते हैं ,बहुत पहले पारिजात नाम की एक राजकुमारी थी । उसे सूरज से प्यार हो गया था ,उसने सूरज के समक्ष अपना प्रेम संदेश दिया जिसे सूरज ने अस्वीकार कर दिया । इससे राजकुमारी इतनी अधिक

दुखी हुई कि उसने आत्महत्या कर ली । राजकुमारी की राख से एक छोटा सा पौधा निकला ।यही हरसिंगार पेड़ बना ,इसके फूल रात को खिलते हैं और सुबह झड़ जाते हैं । इन फूलों को राजकुमारी के आँसू माना जाता है जो सूरज को देखकर गिरते हैं ।

Advertisements

4 thoughts on “पारिजात…

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s