Happy Holi to all my friends 💐💐💐💐💐

Advertisements

वैष्णव जन तो तेने रे कहिये जो पीर पराई जाने रे…

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की १५०वीं वर्ष गाँठ के अवसर पर एक सौ चौबीस देशों के कलाकारों ने गांधी जी के पसन्दीदा भजन “वैष्णव जन तो तेने रे कहिये जो पीर पराई जाने रे” ,गा कर उन्हें श्रध्दांजलि अर्पित की।

यह भजन गांधीजी की प्रार्थना सभा में गाया जाने वाला भजन था ।

महात्मा गांधी इन्टरनेशनल सेनीटेशन कॉन्फ़्रेंस के

दौरान युनाइटेड नेशन के जनरल सेक्रेटरी श्री एन्टोनियो

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ,विदेश मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज और श्रीमती उमा भारती जी की उपस्थिति में एक सौ चौबीस देशों के कलाकारों द्वारा प्रस्तुत किया गया ।

लगभग पाँच मिनट का एक फ़्यूज़न वीडियो बनाया गया है ।

विशेषता इसकी ये है कि इस वीडियो में नाउरो के राष्ट्रपति श्री वारोन दिनावेसी वाका ने स्वंय की आवाज़ में इस भजन को गा कर गांधी जी को श्रध्दाजंलि दी है साथ ही प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी को व्यक्तिगत रूप से उपहार दिया है ।

इश्क…

इश्क वो शै है जहाँ हौसले कम नहीं होते और भड़कते है शोले गर मुख़ालफ़त कम नहीं होते मुस्कुराते जाते हैं फिर भी ग़म के सिलसिले कम नहीं होते परेशां है कब से ये सोच के हम , क्यूँ उनकी यादों में हम नहीं होते

नासूर…

मुहब्बत के ज़ख़्म टीस बन के

दिल में रहते है

ज़रूरी तो नहीं हर ज़ख़्म आँसुओं का मोहताज हो

कुछ नासूर बन के भी

बहते है